सिर्फ 2 लाख रुपए में शुरू करें अपना मेडिकल स्टोर सरकार करेगी आपकी मदद

Free Join Our Telegram

Note:- आज के इस आर्टिकल को पूरा पढ़ने के बाद आप जान जाएगे कैसे सिर्फ 2 लाख रुपए में शुरू करें अपना मेडिकल स्टोर सरकार करेगी आपकी मदद


दोस्तों, जैसा कि आपको पता है पिछले दशकों की तुलना में आज हमारा इंडिया काफी ग्रो कर गया है लेकिन आज भी लाखों लोग अच्छे स्वास्थ्य सुविधाओ से वंचित रह जाते है . 

और इनमे सबसे ज्यादा ग्रामीण इलाके के लोग ही आते हैं. क्योकि ब्रांडेड मेडिकल और दवाए बहुत महंगी आती है. 

इसलिए इंडिया के ग्रामीण और पिछले इलाको में रहने वाले लोगो को कम से कम कीमत पर अच्छी स्वास्थ सुविधा देने के लिए सरकार ने Pradhan Mantri Jan Aushadhi Yojana की शुरुआत की थी.

Pradhan Mantri Jan Aushadhi Yojana

PM-JAY भारत सरकार के तरफ से शुरू की गई एक ऐसी योजना है जिससे हर कोई सस्ते दाम पर जेनेरिक मेडिसीन और स्वास्थ्य सुविधाओ का लाभ प्रधानमंत्री जन औषधि केंद्र ले सकता है. 

आज के डेट में हमारे इंडिया में 6,500 से भी ज्यादा Pradhan Mantri Jan Aushadhi Kendra खोलें जा चुके हैं.  जिनमे 8,000 से भी ज्यादा जेनेरिक दवाइयां सस्ती कीमत जा प्रदान की जा रही है. 

इस योजना की ये हैं खास बातें

  • केंद्र सरकार की है योजना 
  • जो भी खर्च खर्चा आएगा उसकी भरपाई करेगी सरकार . 
  • 90% मिलेगी सस्ती दवाई.
  • स्टोर के फर्नीचर और अन्य चीजों के लिए 2 लाख का हेल्प करेगी सरकार. (इसीलिए हमने इस आर्टिकल के टाइटल का नाम रखा है – सिर्फ 2 लाख रुपए में शुरू करें अपना मेडिकल स्टोर सरकार करेगी आपकी मदद)
  • साथ में Computer और प्रिंटर के लिए 50,000 Rs. का भी सहायता किया जाएगा. 
  • आने वाले समय में सरकार और भी स्टोर खोंलने की योजना बना रही है.

कौन-कौन खोल सकता है Pradhan Mantri Jan Aushadhi kendra

इस योजना लाभ पूरे देश में पहुंचाने के लिए सरकार ज्यादा से ज्यादा Pradhan Mantri Jan Aushadhi kendra खोंलना चाहती है. इसलिए इस योजना के तहत सरकार आम आदमी को भी Pradhan Mantri Jan Aushadhi kendra खोंलने का मौका दे रही है. फिर भी इस योजना के तहत आप तभी जन औषधी केंद्र खोल सकते हैं. अगर आप – 

  • एक डॉक्टर है. 
  • या एक सर्टिफाइड मेडिकल प्रैक्टिशनर है. 
  • या आपके पास B. Pharm/D. Pharma का डिग्री है. 

अगर आपके पास इनमे से कोई भी Eligibility नहीं है तो आप अपने जान-पहचान के B. Pharm/D. Pharma डिग्री होल्डर के नाम से भी जन औषधी केंद्र खुलवा सकते हैं.

वैसे सरकारी अस्पताल के परिसर में भी जन औषधी केंद्र खोला जा सकता है लेकिन ज्यादा प्राथमिकता NGO या जाने-माने ट्रस्ट को ही दिया जाता है. 

ये है जरूरी शर्त | Pradhan Mantri Jan Aushadhi Yojana Eligibility

अगर आप Pradhan Mantri Jan Aushadhi kendra खोंलने चाहते हैं तो आपको इन शर्तों पर भी खरा उतरना होगा- 

  1. आपके पास खुद का या किराए पर लिया हुआ 120  वर्ग फ़ीट का जमीन होना चाहिए. 
  2. आपको स्टेट कौंसिल के साथ रजिस्टर्ड फार्मासिस्ट का नाम भी देना होगा. 
  3. अगर आवेदक ST/SC या शारीरिक रूप से अक्षम केटेगरी में आता है तो उसे इसका सर्टिफिकेट देना होगा. 
  4. अगर आप यह केंद्र खोलना चाहते हैं तो आपको मेडिकल स्टोर प्रधानमंत्री जन औषधि केंद्र के नाम से खोलना होगा.  

अगर आप इन शर्तों को पूरा करते हैं तो आप आज ही ऑनलाइन जन औषधी केंद्र के लिए अप्लाई कर सकते हैं. 

कैसे करें अप्लाई प्रधानमंत्री जन औषधि केंद्र खोंलने के लिए | How to apply pradhan mantri jan aushadhi kendra

आप चाहे तो आप ऑफलाइन भी अप्लाई कर सकते हैं. इसके लिए आपको पहले ऑफिसियल वेबसाइट से प्रधानमंत्री जन औषधि केंद्र खोंलने का एप्लीकेशन फॉर्म डाउनलोड करना होगा. 

इस फॉर्म को सही से भरने के बाद आपको इसे Bureau of Pharma Public Sector Undertaking of India (BPPI) को भेजना होगा. 

उनका एड्रेस है- 

To, 

The CEO, 

Bureau of Pharma Public Sector Undertakings of India (BPPI), 

8th Floor Videocon Tower, Block E1, Jhandewalan Extension, New Delhi – 110055 Tel – 011-49431800

कितनी कमाई होगी Pradhan Mantri Jan Aushadhi kendra खोंलने के बाद. 

अगर आप बेरोजगार है या बिजनेस opportunity की तलाश कर रहे हैं तो Pradhan Mantri Jan Aushadhi kendra खोलना आपके लिए बहुत भी फायदेमंद साबित होगा. 

आगे आपको कुछ बेनिफिट बता रहे है- 

  • PM-JAY रिटेलर को प्रत्येक जेनेरिक दवाइयो पर MRP का 20% मार्जिन मिलता है.  अगर आप एक डिस्ट्रीब्यूटर है तो आपको 10% मार्जिन मिलेगा. 
  • अगर आपका PM-JAY केंद्र BPPI के सिस्टम से जुड़ा है, तो आपको सालाना 2.5 लाख रुपये तक का प्रोत्साहन मिल सकता है.  प्रोत्साहन के रूप में मिलने वाले इस राशि गणना आपके स्टोर की मंथली सेल का 15% किया जाता जो अधिकम 10,000 Rs. है  उत्तर-पूर्वी राज्यों, नक्सल प्रभावित इलाकों और आदिवासी एरिया के लिए यह सीमा 15,000 रुपये तक है. 
  • वे लोग जो PM-JAY केंद्र चलाते हैं और SC/ST या शारीरिक रूप से अक्षम के अंतर्गत आते हैं उन्हें एडवांस में 50,000 रुपये की दवा दी जाएगी. 
  • PM-JAY केंद्र चलाने वाले को फर्नीचर और फिटिंग की खरीददारी के लिए 1 लाख रुपये और कंप्यूटर, प्रिंटर और इंटरनेट सुविधाओ की खरीदारी के लिए 50,000 रुपये का पारिश्रमिक दिया जाएगा.  
  • टोटल सेल या एक्सपायर्ड मेडिसिन के लिए 2% दिया जाएगा.  जो दवाएं एक्सपायर हो चुकी है उसे BPPI का नुकसान माना जाएगा, न कि रिटेलर या डिस्ट्रीब्यूटर का . 
  • पोस्ट-डेटेड चेक के बदले 30-दिनों की फ्री-क्रेडिट अवधि प्रदान की जाएगी. 

इसलिए, रिटेल सेलर 1 लाख रुपये के मंथली सेल पर प्रोत्साहन के रूप में 20,000 रुपये और 10,000 रुपये का कमीशन कमा सकता हैं। साथ ही, स्थापना लागत की प्रतिपूर्ति भी BPPI द्वारा काफी हद तक की जाती है.

PM-JAY भारत के प्रत्येक नागरिक को सस्ती दवाएं उपलब्ध कराने के लिए व्यक्तियों और डॉक्टरों के लिए एक उत्कृष्ट अवसर प्रदान करता है.  

5/5 - (1 vote)

Leave a Comment

x