सरकारी दूध डेयरी कैसे खोलें? एक क्लिक में अभी जानिए

Free Join Our Telegram

क्या आपके इलाके में कोई दूध डेयरी नहीं है या फिर कम है और आप अपने गांव में सरकारी दूध डेयरी खोलने की सोच रहे हैं।

अगर हां तो आप एकदम सही जगह पर पहुंचाए हैं 

क्योंकि आज के इस Post मे मै आपको बताऊगा की आप सरकारी दूध डेयरी कैसे खोलें ? सरकारी दूध Dairy लेने का Process क्या है? और भी बहुत कुछ. 

तो पूरी जानकारी के लिए बने रहिए लास्ट तक. 

सरकारी दूध डेयरी कैसे खोले? [पहला तरीका]

सरकारी डेयरी खोलने के लिए हर एक ग्राम सभा में एक समिति गठित की जाती है। 

इस समिति में कम से कम 41 सदस्य होते हैं।

41 सदस्य नहीं तो समिति का रजिस्ट्रेशन नहीं हो सकता है।

Note- अगर एक घर मे 4 भाई रहते हैं और चारो का चूल्हा अलग जलता है तो ये चारों समिति में शामिल हो सकते है. 

इसके बाद इन 41 लोगो में से एक अध्यक्ष और एक सचिव बनाया जाएगा. 

सचिव समिति में इकठ्ठे होने वाले दूध का फैट चेक करेगा और वही गाड़ी में लोड भी कराएगा. 

इस समिति का अलग से बैंक खाता होगा जिसमे समिति के सभी सदस्यो के दूध का पैसा भेजा जाएगा. 

किस सदस्य को कितना पैसा मिलेगा यह दूध के क्वालिटी पर निर्भर करेगा. 

55 रुपए मेम्बरशिप फीस लिया जाने का नियम है।

इस समिति से प्रतिदिन 40 लीटर दूध होना इकठ्ठा होना चाहिए. 

गर्मी के दिन में 15 लीटर दूध चल जाएगा. 

इस तरीके से दूध डेयरी लेने की पूरी जानकारी के लिए यह वीडियो देखें-

सरकारी दूध डेयरी कैसे खोले? [दूसरा तरीका

किस संगठन का सरकारी डेयरी खोलना चाहते हैं? 

आज मार्केट में बहुत-सी संगठन आ गई है जो सरकारी दूध डेयरी खोलती है. जैसे कि सरस , पराग, पारस आदि. 

तो आपको सबसे पहले तय करना होगा कि आप किस संगठन का सरकारी दूध डेयरी खोलना चाहते है. 

सुपर वाइजर से मिलिए

जब आप यह डिसाइड कर ले कि आप किस संगठन का सरकारी दूध डेयरी खोलना चाहते हैं तो फिर इसके बाद आपको अपने एरिया के उस संगठन के सुपरवाइजर से मिलकर दूध डेयरी खोलने को लेकर बात करना होगा. 

सुपर वाइजर से संपर्क करने के लिए आप अपने एरिया के डेयरी वाले भैया से बात कीजिए. 

या उस डेयरी पर दूध लेने के लिए आने वाले गाड़ी वालो से बात कीजिए. 

अगर आपको पता है कि दूध इकठ्ठी करने के बाद यह गाड़ी कहाँ दूध खाली करती है तो आप उस प्लांट में जा सकते हैं. वहां आपका मुलाकात सुपर वाइजर से हो जाएगा. 

सुपर वाइजर से बात होने के बाद वो आपके गांव का सर्वे करने के लिए अपनी टीम भेजेगे. ताकि वो जान सके कि 

  • क्या सचमुच आपके यहां सरकारी दूध डेयरी खोलने की जरूरत है या नहीं. 
  • आपके गांव में कितना गाय  है , कितना भैस है और क्या डेयरी खोलने के बाद उतना दूध इक्कठा हो सकता है जितनी हमे जरूरत है? 
  • आप जिस जगह पर सरकारी दूध डेयरी खोलना चाहते हैं उसकी नजदीकी प्लांट से दूरी कितनी है? 

सर्वे करने के बाद अगर उन्हें लगता है कि आपके एरिया में बहुत गाय भैस है उन्हें यहां से अच्छा दूध मिल जाएगा. 

अगर यह सर्वे पास हो जाता है तो 1 हप्ते के अंदर आपको डेयरी दे दिया जाता है. 

अगर 1 से 3 KM के अंदर किसी कंपनी की दूध डेयरी पहले से है तो आपको वह दूध डेयरी नहीं मिल सकती है. 

अगर आप दूध डेयरी लेना चाहते हैं लेकिन कंपनी का कहना है कि आप जिस एरिया में  हमारा दूध डेयरी लेना चाहते हैं उसके 1-3 KM के अंदर हमारी कंपनी का दूध डेयरी नहीं होना चाहिए. नहीं तो आपको उस कंपनी का दूध डेयरी नहीं मिल सकता है. 

ऐसे में आप उस कंपनी के अलावा किसी और कंपनी का दूध डेयरी ले सकते है. 

सरकारी दूध डेयरी लेने के लिए जरूरी डॉक्युमेंट्स 

जब आप सरकारी दूध डेयरी खुलवाने के लिए अपने नजदीकी प्लांट में संगठन के सुपरवाइजर से मिलने जाए तो अपने साथ इन दस्तावेज को भी जरूर रख ले- 

  • आधार कार्ड 
  • वोटर कार्ड 
  • पैन कार्ड 
  • बैंक पास बुक 
  • पासपोर्ट साइज फोटो 

सरकारी दूध डेयरी खोलने में आने वाला इन्वेस्टमेंट

अगर खर्च की बात करे तो हर संगठन का अपना अलग-अलग नियम है. 

कुछ संगठन फ्री में अपनी डेयरी दे देती है तो कुछ पैसे लेकर अपना डेयरी देती है. 

अगर ज्यादा से ज्यादा खर्च की बात करे तो इसमें आपको 10 हजार से 20 हजार का खर्च आ सकता है. 

यह पैसे संगठन सिक्योरिटी फीस के रूप में लेती है. 

जब आप संगठन की डेयरी को छोड़ेंगे तो संगठन आपको ये पैसे वापस कर देगी. 

सिक्योरिटी फीस के रूप में आपको जो पैसे देने होंगे वो आपको सीधे हाँथ में नहीं देना है. आपको इसे DD यानी Demand Draft के रूप में जमा करना होगा. 

जब आप ये पैसे जमा कर देगे तो डेयरी शुरू करने के लिए आपके यहाँ संगठन के तरफ से पूरा सिस्टम भेज दिया जाता है. 

जिसमे आपको सोलर पैनल, बैटरी , फेट मशीन , तौलने की मशीन शामिल होंगे. 

फिर हर रोज संगठन की गाड़ी आपके यहां दूध लेनें आ जाया करेगी. 

सरकारी दूध डेयरी से होने वाली कमाई

किसी भी संगठन का सरकारी दूध डेयरी लेकर आप बेहतरीन कमाई कर सकते है. 

लेकिन यह कमाई इस बात पर डिपेंड करेगा कि आप जो डेयरी खोलने वाले हैं वहां डेली कितना डेयरी आता है. 

जितना ज्यादा दूध आपके डेयरी से कंपनी के प्लांट में जाएगा ,कंपनी के तरफ से आपको उतना ही ज्यादा कमीशन मिलेगा. 

हर कंपनी के तरफ से दूध पर दिया जाने वाला कमिशन अलग-अलग हो सकता है. 

किसी कंपनी मे 3% कमिसन , किसी मे 4% कमिसन तो किसी मे 4.5% कमिसन दिया जाता है. 

यह कमिसन आपको टोटल दूध की कीमत के आधार पर दिया जाएगा. 

मान लीजिए किसी दिन आपने 2000 रुपए का दूध भेजा तो 4% के हिसाब से आपको 80 रुपए मिल जाएगे. 

FAQ- अक्सर लोग इस तरह के प्रश्न पूँछा करते हैं-

Q- सरकारी दूध डेयरी लेने के लिए कितनी पढ़ाई लिखाई की होनी चाहिए? 

Ans.- अगर आप सरकारी दूध डेयरी लेना चाहते हैं तो इसके लिए आपको किसी खास पढ़ाई-लिखाई की जरूरत नहीं है.  बस आपको English की जानकारी होनी चाहिए जिससे आप मशीन चलाना आना चाहिए. वैसे कोई भी इसे करते-करते सीख सकता है।

Q- हमारे पास कितना दूध होना चाहिए? 

Ans.- आपके डेयरी में कम से कम 50 लीटर दूध डेली इकठ्ठा हो जाना चाहिए. लेकिन शुरुआत में आपको थोड़ा कम मिलेगा. 

Q- डेयरी लेनें के लिए क्या देखा जा सकता है? 

Ans.- आपको डेयरी देने से पहले संगठन आपका स्वभाव का जांच-परख कर सकते है 
कि कहीं हम गलत इंसान को दूध डेयरी तो नहीं दे रहे है.

सरकारी दूध डेयरी कैसे खोले [निष्कर्ष]

इस जानकारी को पढ़ने के बाद आप समझ चुके होंगे कि सरकारी दूध डेयरी कैसे खोल सकते हैं?

इस जानकारी को लेकर अगर आपका कोई सुझाव या प्रतिक्रिया है तो हमें जरूर बताएं। 

धन्यवाद। 

5/5 - (6 votes)

Leave a Comment

x